शेयर मार्केट

क्या आप जानते है इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है? कैसे करते हैं इंट्राडे ट्रेडिंग?

Intraday Trading in Hindi

Story Highlights
  • इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है?
  • कैसे करे Intraday Trading?
  • Intraday Trading के कुछ नियम
  • Intra day Trading किसमे होती है? 

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है?| What is Intraday Trading: इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday Trading) में एक ही दिन में शेयर को खरीद कर बेचना होता है। इसे ऐसे भी समझ सकते है कि इसमें कम समय मे अधिक मुनाफा कमाने के मकसद से लोग इंट्राडे ट्रेडिंग करते हैं। इंट्राडे ट्रेडिंग का मकसद निवेश करना नही होता है। बल्कि शेयर को कम कीमत पर खरीद कर दाम बढ़ जाने पर उन्हें बेचना होता है। इंट्राडे ट्रेडिंग ट्रेडिंग थोड़ा Risky होता है क्योंकि इसमें आपने जो भी शेयर खरीदे हैं उसके पैसे बढ़ेंगे या घटेंगे, इसके बारे में निश्चित तौर से कोई कुछ नही कहा जा सकता है। ज्यादातर इंट्राडे ट्रेडिंग करने वाले लोग फुल टाइम इन्वेस्टर होते हैं। वह हर वक्त मॉनिटर पर अपनी निगाह गड़ाए होते हैं और शेयर के प्राइस को monitor करते रहते हैं।

कैसे करे Intraday Trading?

इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday Trading) करने के लिए सबसे पहले किसी ट्रेडिंग फॉर्म में Register करना आवश्यक होता है। इसके बाद आप शेयर की ट्रेडिंग कर सकते हैं।

 रजिस्टर करने के लिए आप ऑफलाइन या फिर ऑनलाइन किसी भी तरीके से Trading अकाउंट बना सकते हैं। आजकल कई सारी ट्रेडिंग फॉर्म है जो ऑनलाइन ही आपका डिमैट अकाउंट भी open कर देती है। इसी डिमैट अकाउंट के माध्यम से शेयर बाजार खरीदे और बेचे जाते हैं। इंट्राडे ट्रेडिंग काफी रिस्की होता है। इसमें लोगों को बहुत ज्यादा नुकसान होता है लेकिन इसमें कमाई भी बहुत तेजी होती है। जो लोग नुकसान उठाने का रिस्क ले सकते हैं उनके लिए पैसा कमाने का यह एक अच्छा माध्यम है।

 इंट्राडे ट्रेडिंग को सही ढंग से समझ के जल्दी से ढेर सारा पैसा कमाया जा सकता है। ऐसे में यह कह सकते हैं कि इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए शेयर मार्केट की अच्छी जानकारी होना बेहद जरूरी है। 

Intraday Trading के कुछ नियम – 

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए निम्नलिखित बातों को जानना बेहद जरूरी है

  •  इसमें शेयर की ट्रेडिंग शेयर मार्केट के खुलने अर्थात 9:15 से 3:30 तक ही होती है
  •  खरीदे गए शेयर को 3:30 तक बेचना होता है। लेकिन आप किसी भी वजह से यदि शायर नहीं पाते हैं तो यह शेयर डिलीवरी प्रोडक्ट बन जाता है और आपको उन शेयर के पैसे देकर उन्हें अपने डीमेट अकाउंट में खरीद कर रखना होता है।
  •  फिर अगले दिन या फिर दो-तीन दिन बाद शेयर को दोबारा से बेच सकते हैं।

Intra day Trading किसमे होती है? 

इंट्राडे ट्रेडिंग प्रमुख रूप से तीन चीजों में हो सकती हैं। 

  • इक्विटी (Equidity)
  • कमोडिटी (Commodity)
  • करेंसी (currency)

इक्विटी का अर्थ होता है – अंश या शेयर। मुख्य रूप से इक्विटी किसी भी कंपनी के हिस्सेदारी को प्रदर्शित करता है। शेयर मार्केट में रजिस्टर कंपनी के शेयर को इसमें आसानी से खरीदा और बेचा जाता है।

कमोडिटी का मतलब है – मूल्यवान वस्तुएं, जिनकी एक लिमिटेड में उपलब्धता होती है। जैसे –  मेटल, गोल्ड, सिल्वर प्रोडक्ट आदि। इसमें लोग डिजिटल गोल्ड में भी इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं।

करेंसी इसमें ट्रेडिंग के लिए आप कई देशों की करेंसी पर ट्रेडिंग कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए कुछ रूल और रेगुलेशन होते हैं जिन्हें फॉलो करते हुए क्रिप्टो करेंसी में भी इन्वेस्टमेंट किया जा सकता है, जैसे Bitcoin, Tether XRP, Ethereum आदि।

दोस्तों आपको हमारा यह लेख कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं यदि आपके मन में कोई सवाल हो तो उसे भी आप कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।

यह भी पढ़े : आइये जानते है ट्रेडिंग क्या है? ट्रेडिंग के प्रकार के बारे में सब कुछ | What is Trading and its type in Hindi

Archana Yadav

मुझे नए नए टॉपिक्स में लेख लिखना पसंद हें, मेरे लेख पढ़ने के लिए शुक्रिया आपको केसा लगा कॉमेंट करके ज़रूर बताए.

Related Articles

Back to top button