कृषि

खाद (Manure) तथा उर्वरक किसे कहते हैं आइए जानिए !!

खाद किसे कहते हैं,खाद के प्रकार !! उर्वरक किसे कहते हैं,उर्वरक के प्रकार !!

नमस्कार मित्रों आज हम आपको खाद क्या होती है खाद कैसे बनती है और खाद के कितने प्रकार होते हैं तथा उर्वरक क्या होता है उर्वरक कैसे बनता है और उर्वरक के कितने प्रकार होते हैं आज इस विषय में हम बात करेंगे तो इसके लिए आपने इस लेख को पूरा पढ़ना है और अगर आपको यह लेख पसंद आए तो अपनी राय नीचे कमेंट में जरूर दें।।

खाद (Manure)

खाद वह पोषक तत्व है जो जानवरों‌ के गोबर से बनी होती है वैसे खाद बहुत प्रकार की होती है जैसे पौधों से भी खाद मिलती है और भी बहुत प्रकार की यहां पर होती है लेकिन जो सबसे ज्यादा पोषित खाद होती है जिसमें पौधा हष्ट पुष्ट उगता है वह जानवरों की खाद से होता है ।। ग्रामीण इलाकों में लोग खाद का ढेर बनाकर उसे धूप में सुखाने के लिए रख देते हैं जिससे खाद में बहुत अच्छी नमी आये और वह ज्यादा पोषक तत्वों से भरपूर हो।। इसे हम जैविक खाद कहते हैं इसमें हम कोई भी रासायनिक चीजों का प्रयोग नहीं करते हैं यह एक दम प्राकृतिक खाद है (जैविक खाद में अच्छी तरह से सड़ी हुई फार्म यार्ड खाद (FYM) खाद, हरी खाद, तेल केक आदि शामिल हैं।

जैविक खाद 2 प्रकार की होती है:

१) भारी जैविक खाद २) सांद्रित जैविक खाद

1) भारी जैविक खाद (Bulky Organic Manure):

यह मुख्य रूप से जानवरों, पौधों और अन्य जैविक कचरे और हरे पौधों के ऊतकों से प्राप्त होता है। कॉम की तुलना में उनमें आमतौर पर पौधों के पोषक तत्वों की मात्रा कम होती है। उदा. एफवाईएम, कम्पोस्ट (खेत और शहर के कचरे आदि से), हरी खाद (जैसे ढैंचा, ग्लाइरिसिडिया, सनहेम्प, अन्य फलीदार फसलें आदि)।

2) सांद्रित जैविक खाद(Concentrated Organic Manure) :

यह मुख्य रूप से जानवरों या पौधों की उत्पत्ति के कच्चे माल से प्राप्त होती है। केंद्रित जैविक खादों में भारी जैविक खादों की तुलना में अधिक पोषक तत्व होते हैं। उदा. तेल केक, रक्त भोजन, मांस भोजन, हड्डी भोजन आदि।

उर्वरक (Fertilizer)

उर्वरक एक ऐसी खाद होती है जो रसायनिक अभिक्रिया द्वारा बनाई जाती है अगर हम मुख्यतः बात करें तो जो बड़े बड़े उद्योगों से जो गंदगी बाहर निकलती है उससे उर्वरक बनाया जाता है ।। उर्वरक में जैविक खाद से ज्यादा पोषण तत्व पाए जाते हैं क्योंकि इसे रसायनिक अभिक्रिया करके बनाया जाता है तो इसमें पौधों के लिए भारी मात्रा में पोषक तत्व मिल जाते हैं यह फसल उत्पादन के लिए बहुत बढ़िया खाद है उर्वरकों का वर्गीकरण:

1) सीधे उर्वरक (Straight Fertilizer): उर्वरक के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसमें केवल एक प्रमुख (प्राथमिक) पोषक तत्व होता है। उदा. यूरिया, अमोनियम सल्फेट

2) द्विआधारी उर्वरक(Binary Fertilizer): इसमें दो प्रमुख पोषक तत्व होते हैं जैसे। पोटेशियम नाइट्रेट

3) मिश्रित/जटिल उर्वरक(Complex Fertilizer): इसे उर्वरक सामग्री के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसमें रासायनिक प्रतिक्रियाओं की प्रक्रिया द्वारा उत्पादित एक से अधिक प्रमुख पोषक तत्व होते हैं। उदा. डीएपी, अमोनियम फॉस्फेट।

4) पूर्ण उर्वरक(Complete Fertilizer): पूर्ण उर्वरक उर्वरक को कहते हैं जिनमें प्रमुख तीन जो सबसे ज्यादा मुख्य पोषक तत्व हैं वह पाए जाते हैं जैसे नाइट्रोजन फास्फोरस और पोटैशियम (Nitrogen, phosphorus and potassium)..

तो मित्रों कैसा लगा आपको हमारा यह लेख अगर पसंद आया तो अपनी राय जरूर दें और इसे और लोगों तक भी शेयर जरूर करें धन्यवाद।।

Back to top button