शेयर मार्केट

आइये जाने स्टॉक ब्रोकर क्या होते है, शेयर बाजार में स्टॉक ब्रोकर के प्रकार के बारे में

What is Stock Broker in Hindi: शेयर मार्केट के बारे में हम सभी ने सुना है। शेयर मार्केट से ही स्टॉक ब्रोकर (stock broker) भी जुड़ा होता है। ज्यादातर हमें से सभी लोगों ने स्टॉक ब्रोकर का नाम भी सुना होगा! आज हम जानेगे स्टॉक ब्रोकर क्या होता है? स्टॉक ब्रोकर का शेयर मार्केट में क्या काम करता है? 

स्टॉक ब्रोकर का काम शेयर मार्केट (share market) में बहुत ही महत्वपूर्ण है। यह स्टॉक एक्सचेंज और इन्वेस्टर के बीच में एक कड़ी के रूप में काम करता है। बिना ब्रोकर के कोई भी निवेशक (Investor)  शेयर मार्केट में निवेश नहीं कर सकता है। अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो आपको डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है। यह दोनों ही अकाउंट आप एक स्टॉकब्रोकर में ही खोल सकते हैं। 

दूसरे शब्द में कहे तो किसी भी Investor द्वारा शेयर को खरीदने और बेचने के आर्डर को स्टॉक एक्सचेंज (stock exchange) तक पहुंचाने का काम स्टॉक ब्रोकर का काम होता है।

 स्टॉक ब्रोकर को ही दलाल के नाम से भी जानते हैं। सामान्य शब्दों में कहें तो वह व्यक्ति या संस्था या कंपनी जो हमारे शेयर के खरीदने के आर्डर को मार्केट में पहुंचाने का काम करता है उसे स्टॉकब्रोकर कहा जाता है। यह स्टॉक ब्रोकर कोई व्यक्ति, कंपनी या फिर कोई फर्म हो सकती है। यह स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर होते हैं

स्टॉक ब्रोकर कैसे काम करता है? 

जब हम शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं और शेयर को खरीदते (buy) और बेचते (sell) हैं तब इसके लिए स्टॉक ब्रोकर में ही एक ट्रेडिंग अकाउंट खोलते हैं। यहां पर यह स्टॉक ब्रोकर शेयर को खरीदने और बेचने का काम करता है।

 इसके द्वारा ही हम शेयर मार्केट को आर्डर देते हैं कि हमें कौन सा शेयर खरीदना है, कब खरीदना है और कितनी मात्रा में खरीदना है अथवा बेचना है।

स्टॉक ब्रोकर कुछ ही सेकंड में हमारे आर्डर को शेयर मार्केट में पहुंचा देते हैं। एक तरफ से कह ले तो यह मध्यस्थता का काम करते हैं।

Stock Broker के प्रकार –

भारत मे स्टॉक ब्रोकर सर्विस के आधार पर दो प्रकार के होते हैं 

  • Full service Broker (फुल सर्विस ब्रोकर)
  • Discount stock Broker (डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर)

फुल सर्विस ब्रोकर – 

फुल स्टॉक ब्रोकर शेयर को खरीदने और बेचने की सुविधा के साथ ही इन्वेस्टर और ट्रेंडर को स्टॉक एडवाइजरी सर्विस भी देते हैं। जिसमें कौन सा शेयर खरीदना चाहिए कितनी मात्रा में खरीदना चाहिए तथा कब भेजना चाहिए यह सारी जानकारी फूल सर्विस ब्रोकर देते हैं।

 कई बार स्टॉक ब्रोकर यदि आपके पास शेयर को खरीदने के लिए पर्याप्त पैसे नही होते हैं तो मार्जिन मनी की सुविधा भी देते हैं। यह फोन कॉल, इंटरनेट बैंकिंग या ऑनलाइन एप्लीकेशन की मदद से आपके ऑर्डर को पूरा करते हैं।

यदि आप IPO (Initial Public Offering) के शेयर खरीदना चाहते हैं तो यह जल्दी से शेयर खरीदने की सुविधा भी देते हैं। साथ ही यह पोर्टफोलियो को मैनेज करने की सुविधा भी प्रदान करते हैं।

डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर – 

 डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर आपके ऑर्डर को पूरा करते हैं। लेकिन यह कुछ ब्रोकरेज फीस लेते हैं जो की बहुत ही कम होती है। यह बेहद कम पैसे में आपके ऑर्डर को मार्केट में एक्टिव बनाते हैं। डिस्काउंट ब्रोकर किसी भी प्रकार की सर्विस नहीं देते हैं। बल्कि इसमे खुद रिसर्च करके आर्डर प्लेस करने पड़ते हैं। इसमें आपको पोर्टफोलियो खुद ही मेहनत करना होता है।

टॉप 10 स्टॉक ब्रोकर

Archana Yadav

मुझे नए नए टॉपिक्स में लेख लिखना पसंद हें, मेरे लेख पढ़ने के लिए शुक्रिया आपको केसा लगा कॉमेंट करके ज़रूर बताए.

Related Articles

Back to top button