शेयर मार्केट

आइए जानते हैं क्या होता है डीमैट अकाउंट, इसे कैसे खोलते हैं

How to open Demat Account in Hindi

डीमैट अकाउंट क्या है (What is Demat Account in Hindi):

डीमैट का पूरा फुल फॉर्म Dematerialize है। डीमैट अकाउंट एक ऐसा अकाउंट होता है जिसके माध्यम से लोग शेयर बाजार में शेयर की खरीद और बिक्री आसानी से कर सकते हैं। कोई भी व्यक्ति आसानी से अपना डीमैट अकाउंट खुलवा सकता है। इसके लिए पैन कार्ड (PAN CARD) होना जरूरी है। बिना पैन कार्ड के कोई भी व्यक्ति डीमैट अकाउंट नहीं खुलवा सकता है।

इस तरह से हम कह सकते हैं कि डीमैट अकाउंट का इस्तेमाल शेयरों को खरीदने और बेचने के लिए लोग करते हैं। जिस तरह से लोग अपना पैसा बैंक अकाउंट में जमा करके रखते हैं। ठीक उसी तरीके से डीमैट अकाउंट में लोग शेयर को जमा कर के रखते है। डीमैट अकाउंट होने से हम जिस तरह से ऑनलाइन डिजिटल पेमेंट करते हैं उसी तरीके से शेयर को भी एक अकाउंट से दूसरे डीमैट अकाउंट में डिजिटल ट्रांसफर कर सकते हैं। अर्थात शेयरों को भौतिक रूप में बदलने की प्रक्रिया को डिमैटेरियलाइजेशन कहा जाता है। पहले के समय में जब लोग शेयर को खरीदते थे तो कंपनी शेयर से जुड़े दस्तावेज भेज दी थी। जो इस बात का सबूत होते थे कि आपने उस कंपनी के शेयर में निवेश कर रखा है। वही जब आप शेयर को बेचते थे तो वही दस्तावेज कंपनी को दिया जाता था और उसमें लिखें भाव के हिसाब से आपको पैसा दिया जाता था। यह प्रक्रिया काफी जटिल होती थी। यही वजह थी कि आम जनता शेयर मार्केट में निवेश करने से बचती थी। समय के साथ नई तकनीक आई। आज इंटरनेट के दौर में सब कुछ डिजिटल हो गया है। ऐसे में शेयर की खरीद और बिक्री भी डिजिटल माध्यम से होने लगी है और अब डीमेट अकाउंट के जरिए होती है।

डीमेट अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट

  • पैन कार्ड PAN CARD
  • आधार कार्ड AADHAR CARD
  • पासपोर्ट साइज की दो फोटो
  •  कैंसिल चेक 
  • सेविंग बैंक खाता पासबुक

भारत में डीमेट अकाउंट खोलने के लिए जो संस्थाएं है – 

  • एनएसडीएल (NSDL – National Security Depository Limited)
  • सीडीएसएल (CDSL – Central Security Depositary Limited)

आज भारत में इन दोनों कंपनियों के 500 से भी अधिक एजेंट है। जिन्हें डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स के नाम से जाना जाता है। यह लोगों का डीमेट अकाउंट खोलने का काम करती है। डीमेट अकाउंट बैंक ही नहीं बल्कि अन्य संस्थाएं भी हो सकते हैं जिसमें प्रमुख रूप से भारत में डीमेट अकाउंट खोलने वाली संस्था sharekhan, india infoline आदि है।

लोग अब घर बैठे इंटरनेट की मदद से ऑनलाइन डीमेट अकाउंट बहुत आसानी से खोल सकते हैं। इसके लिए सबसे अनिवार्य डॉक्यूमेंट पैन कार्ड (PAN कार्ड) है। पैन कार्ड रहने पर मिनटों में डीमैट अकाउंट खोला जा सकता है।

कितने डीमैट एकाउंट खोले जा सकते हैं? 

बैंक खाते की तरह ही डीमेट अकाउंट भी एक से अधिक खोला जा सकता है। एक बैंक में आप अधिकतम तीन डीमेट अकाउंट खोल सकते हैं। ध्यान रहे अन्य वित्तीय सेवाओं की तरह डीमेट अकाउंट पर भी चार्ज लगता है। ऐसे में ब्रोकर का चयन करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि डीमेट अकाउंट खोलने के लिए कितनी फीस और ब्रोकिंग चार्ज पथ पर ट्रांजैक्शन चार्ज ले रहे हैं।

यह भी जाने : आईये जानते है पेपर ट्रेडिंग क्या है? पेपर ट्रेडिंग कैसे करें

Archana Yadav

मुझे नए नए टॉपिक्स में लेख लिखना पसंद हें, मेरे लेख पढ़ने के लिए शुक्रिया आपको केसा लगा कॉमेंट करके ज़रूर बताए.

Related Articles

Back to top button